best new shayari - top 100+ new hindi shayari - nowshayari.in
  • Breaking News

    Monday, 28 October 2019

    best new shayari - top 100+ new hindi shayari

    Best new Hindi shayari in Google site, lots of categories for love shayari, sad shayari, attitude shayari, allon shayari extra all categories...



    या खुदा तूने कैसी ये,
                    मोहब्बत है बनाई,
     हर रांझे की किस्मत में,
          क्यों नहीं एक हीर लिख दी।
    ya khuda toone kaisee ye,
         mohabbat hai banaee...
    kyon nahin har raanjhe kee,
         kismat mein ek heer likh dee.

          *****      *****     *****
    इन दर्द भरी आँखों में,
            नींद नहीं आने वाली
    हथेली का लिहाफ,
     ओढाने यहाँ ना आये कोई!
    in dard bharee aankhon mein,
        neend nahin aane vaalee
    hathelee ka lihaaph,
    odhaane yahaan na aaye koee

          *****      *****     *****

    बड़ा मासूम सा है वो शख्स,
    बड़ी अजीबियत रखता है।
    नफरत भी हम से है औऱ,
     हमी से मोहब्बत करता  है।।।
    bada maasoom sa hai vo shakhs,
    badee ajeebiyat rakhata hai.
    napharat bhee ham se hai aur,
     hamee se mohabbat karata  hai...

          *****      *****     *****
    साथ रहे तो रह न सके,
    दूर रहे तो जी न सकें।।
    saath rahe to rah na sake,
    door rahe to jee na saken..

          *****      *****     *****
    दर्द देने में कोई कसर नहीं...
     पर उसके बिना बसर नहीं
     dard dene mein koee kasar nahin...
      par usake bina basar nahin

          *****      *****     *****
    आँसू भी देता है वो मुझे और खुशियाँ भी
    वो दिल के बटुए में मुस्कुराहट भी रखता है।

    aansoo bhee deta hai vo,
    mujhe aur khushiyaan bhee..
    vo dil ke batue mein,
     muskuraahat bhee rakhata hai.

          *****      *****     *****

    हाँ फ़रिश्ता है तु मेरा या खुदा कह दूँ तुझे
    इस जहां में बन के तेरे ही दीवाने आये है।

    haan farishta hai tu mera ya khuda kah doon tujhe
    is jahaan mein ban ke tere hee deevaane aaye hai.

          *****      *****     *****
    आंखों के ख्वाब मिटा दूं रात भर जागकर,
    पर दिल के ख्वाब मिटाऊं कैसे।

    aankhon ke khvaab mita doon raat bhar jaagakar,
    par dil ke khvaab mitaoon kaise.

          *****      *****     *****
    तेरी मर्ज़ी जैसा बन जाऊँ "प्रभू"।
    मर्ज़ी क्या है ये पता तो चले।।
    teree marzee jaisa ban jaoon "prabhoo".
    marzee kya hai ye pata to chale..

          *****      *****     *****
    दिल के दर्द का इलाज मैं बताता हूँ आपको,
    मुहब्बत न करो ये दवा अक्सीर लिख दी।
    dil ke dard ka ilaaj main bataata hoon aapako,
    muhabbat na karo ye dava akseer likh dee.

          *****      *****     *****
    आहट पाते ही जिसकी मातम छा गया,
    उसके जीवन की आश लगाऊं कैसे।
    aahat paate hee jisakee maatam chha gaya,
    usake jeevan kee aash lagaoon kaise.

         *****      *****     *****
    मैं भी मुखबिरी कर दूँ उसकी।
    असलियत हमें पता तो चले।।
    main bhee mukhabiree kar doon usakee.
    asaliyat hamen pata to chale..

          *****      *****     *****
    दिल में उतर गए हैं  ढलती शाम के डूबते साये
    तमन्नाओं के चराग जलाने  यहाँ ना आये कोई
    dil mein utar gae hain  dhalatee shaam ke doobate saaye
    tamannaon ke charaag jalaane  yahaan na aaye koee

          *****      *****     *****
    कभी हम भी हुआ करते थे रसूखदार दिल के,
    उनकी मुस्कान पे अपनी दिल की जागीर लिख दी।
    kabhee ham bhee hua karate the rasookhadaar dil ke,
    unakee muskaan pe apanee dil kee jaageer likh dee.

         *****      *****     *****

    बड़ी ही जहमत से जवां हुआ ये फूल,
    दुनियां की नजर इससे हटाऊं कैसे।
    badee hee jahamat se javaan hua ye phool,
    duniyaan kee najar isase hataoon kaise.

          *****      *****     *****
    प्यार का पैगाम तेरी नफरत में भी है लिखा
    हम खिजाओं में गुलिस्तां को सजाने आये है।
    pyaar ka paigaam teree napharat mein bhee hai likha
    ham khijaon mein gulistaan ko sajaane aaye hai.
     
        *****      *****     *****
    अश्कों की बारिश बड़ी मुश्किल से थमी है,
    हमदर्दी का सैलाब बहाने यहाँ ना आये कोई...
    ashkon kee baarish    badee mushkil se thamee hai
    hamadardee ka sailaab bahaane   yahaan na aaye koee

          *****      *****     *****
    हमने तो मोहब्बत की तहरीर लिख दी,
    रग-रग में दर्द पोर-पोर में पीर लिख दी।
    hamane to mohabbat kee tahareer likh dee,
    rag-rag mein dard por-por mein peer likh dee.

          *****      *****     *****
    खुदा का सौदा कर लिया धर्म के इजारेदारों ने,
    उससे खिदमत की गुहार लगाऊं कैसे।
    khuda ka sauda kar liya dharm ke ijaaredaaron ne,
    usase khidamat kee guhaar lagaoon kaise.

         *****      *****     *****
    उनकी नजरों से आजादी तो नहीं सजा मिली है
    उम्र भर की नजरबंदी प्रेम की जंजीर लिख दी।
    unakee najaron se aajaadee to nahin saja milee hai
    umr bhar kee najarabandee prem kee janjeer likh dee.

          *****      *****     *****
    दिल में अब निश्चय के  पत्थर सजा लिये हमने
    दरिया-ए-ज़ज़्बात बहाने  यहाँ ना आये कोई
    dil mein ab nishchay ke  patthar saja liye hamane
    dariya-e-zazbaat bahaane  yahaan na aaye koee

          *****      *****     *****

    मौत से डरते वही हैं जो जीना नहीं जानते,
    मैं बेखौफ हूँ तभी तो बात गंभीर लिख दी।
    maut se darate vahee hain jo jeena nahin jaanate,
    main bekhauph hoon tabhee to baat gambheer likh dee.

         *****      *****     *****
    दरिंदों कि नियत तो कहीं भी डोल जाती है,
    चेहरा नकाब में छुपाऊं कैसे।
    darindon ki niyat to kaheen bhee dol jaatee hai,
    chehara nakaab mein chhupaoon kaise.

          *****      *****     *****
    सफ़र में दोस्ती करूँ किससे।
    कौन क्या है ये पता तो चले।।
    safar mein dostee karoon kisase.
    kaun kya hai ye pata to chale..

          *****      *****     *****
    मेरी परछाई से टपकती  है  ये उदासी टप -टप
    तेजाबी बारिश में नहाने  यहाँ ना आये कोई
    meree parachhaee se tapakatee hai ye udaasee tap -tap
    tejaabee baarish mein nahaane  yahaan na aaye koee

         *****      *****     *****
    जो लेना भी नहीं चाहते घायल का हाल-चाल,
    उन्हीं के हाथों में किस्मत ने मेरी तामीर लिख दी।
    jo lena bhee nahin chaahate ghaayal ka haal-chaal,
    unheen ke haathon mein kismat ne meree taameer likh dee.

          *****      *****     *****
    अवनि - अंबर दोनों वैरी बन बैठे,
    पंख फड़फड़ाती कल्पना को उड़ाऊं कैसे।
    avani - ambar donon vairee ban baithe,
    pankh phadaphadaatee kalpana ko udaoon kaise.

         *****      *****     *****
    बुराई लाख चाहे जतन कर ले है हौसला
    सत्य की राहों में बन दीपक टिमटिमाने आये है।
    buraee laakh chaahe jatan kar le hai hausala
    saty kee raahon mein ban deepak timatimaane aaye hai.

          *****      *****     *****


    बुझी चिंगारी को सुलगाने,
       यहाँ ना आये कोई...
    जख्मों पर नमक लगाने,
       यहाँ ना आये कोई...
    bujhee chingaaree ko sulagaane,
       yahaan na aaye koee...
    jakhmon par namak lagaane,
       yahaan na aaye koee...

          *****      *****     *****
    क्यों नाराज़ है दुनिया हमसे।
    ख़ता है क्या ये पता तो चले।।
    kyon naaraaz hai duniya hamase.
    khata hai kya ye pata to chale..

          *****      *****     *****
    तुम जिंदगी हो मेरी ,
    धड़कन तो बस एक किस्सा है !!
    लफ़्ज़ों की मोहताज नहीं है मोहब्बत,
    रूह से रूह का तू मेरे हिस्सा है !!
    tum jindagee ho meree ,
    dhadakan to bas ek kissa hai !!
    lafzon kee mohataaj nahin hai mohabbat,
    rooh se rooh ka too mere hissa hai !!

          *****      *****     *****

    सब मिला मुझे तुझे पाकर ,
    प्यार नसीब अब कैसा है,
    मिला मुकाम मुझे तुझको पाकर,
    मेरा जीवन साथी बस तेरे जैसा है !!
    sab mila mujhe tujhe paakar ,
    pyaar naseeb ab kaisa hai,
    mila mukaam mujhe tujhako paakar,
    mera jeevan saathee bas tere jaisa hai !!

          *****      *****     *****
    कुछ भी सुनने और सुनाने यहाँ न आये कोई,
    मेरी तन्हाई का साथ निभाने यहाँ न आये कोई...


    kuchh bhee sunane aur sunaane yahaan na aaye koee
    meree tanhaee ka saath nibhaane yahaan na aaye koee

          *****      *****     *****
    सफर खत्म है वहां तक मेरा,
    जिसकी मंजिल बस तुझ तक है,
    दिल धड़कता है बस तेरे लिए ,
    तेरा ख्वाब भी आखिर मुझ तक है !!
    safhar khatm hai vahaan tak mera,
    jisakee manjil bas tujh tak hai,
    dil dhadakata hai bas tere lie ,
    tera khvaab bhee aakhir mujh tak hai !!

          *****      *****     *****


    तुम्हें ढूंढते ढूंढते देखो मैं कहाँ आ गई,
    बरसों की खोई मैं आज खुद से टकरा गई।
    tumhen dhoondhate dhoondhate dekho main kahaan aa gaee,
    barason kee khoee main aaj khud se takara gaee.
     
        *****      *****     *****
    आईना हूँ मैं तेरा कहा था कभी तुमने,
    क्यों! बता सनम आज नजर धुंधला गई।
    aaeena hoon main tera,
     kaha tha kabhee tumane,
    kyon! bata sanam aaj,
     najar dhundhala gaee.

          *****      *****     *****
    ईश्क में तेरी खुद की हस्ती मिटाने आये है
    सनम हम तो खुद को खुद से मिलाने आये है
    eeshk mein teree khud kee,
     hastee mitaane aaye hai..!
    sanam ham to khud ko,
     khud se milaane aaye hai..!

          *****      *****     *****
    कहाँ मंज़िल कौन सा रास्ता।
    घर से निकलूँ पता तो चले।।
    kahaan manzil kaun sa raasta.
    ghar se nikaloon pata to chale..

          *****      *****     *****
    दिखते हो बस तुम ही तुम इन निगाहों को,
    मैं तो तेरे प्यार में देख सबको भुला गई।
    dikhate ho bas tum hee tum in nigaahon ko,
    main to tere pyaar mein dekh sabako bhula gaee.

         *****      *****     *****
    डूब ही जाती दिल की कश्ती तेरे समुंदर में,
    मैं कहाँ ऐसा एक पल भी तुमसे पा गई।
    doob hee jaatee dil kee,
     kashtee tere samundar mein,
    main kahaan aisa ek pal,
     bhee tumase pa gaee.

          *****      *****     *****
    सुनते तो बताती मैं सबसे हूँ अलहदा,
    मगर वो चुभती नज़र लब सिला गई।
    sunate to bataatee main sabase hoon alahada,
    magar vo chubhatee nazar lab sila gaee.

          *****      *****     *****
    कौन है हम ये पता तो चले।
    ख़बर बनकर हवा तो चले।।
    kaun hai ham ye pata to chale.
    khabar banakar hava to chale..

          *****      *****     *****

    तरस जायेगी सखी अब एक झलक को,
    ये तेरी नज़र कहीं और घर बसा गई।।
    taras jaayegee sakhee ab ek jhalak ko,
    ye teree nazar kaheen aur ghar basa gaee..

          *****      *****     *****
    निष्प्राण होती देह तो नहीं थी कोई बात,
    मगर मैं जिंदा होते भी जैसे दी जला गई।
    nishpraan hotee deh to nahin thee koee baat,
    magar main jinda hote bhee jaise dee jala gaee.

          *****      *****     *****
     
    हो अटल गर ईरादे तो कोई मुश्किल ही नही
    हम तो सहरा में प्यार का दरियां बहाने आये है।
    ho atal gar eeraade to koee mushkil hee nahee
    ham to sahara mein pyaar ka dariyaan bahaane aaye hai.

          *****      *****     *****

    No comments:

    Post a comment

    Please do not enter any spem links in the comment box

    Popular Posts

    Contact Form

    Name

    Email *

    Message *

    Follow by Email