Alone Sad Shayari new broken heart collection- - nowshayari.in
  • Breaking News

    Sunday, 15 September 2019

    Alone Sad Shayari new broken heart collection-




    =============================
    देखो कैसे मुह फुलाये बैठे है,हर रिश्ते में खुद में आजमाए बैठे है,चाहे तो कर ले हर मुश्किल को पार आसानी से,न जाने क्यों  आज खुद से हारे बैठे है.....
    =============================
    कभी रूबरू हो जाए तो कहना थोड़ा याद कर ले,
    कर ले याद तो ठीक है ना करे तो कोई बात नहीं I
    =============================
    एक दूजे की कमी हर दम होती है महसूस,न रह सकते एक दूजे के बिन ,फिर भी न जाने क्यों जिद को ठाने बैठे है,न जाने क्यों आज खुद से हारे बैठे है,
    =============================
    करते है प्यार एक दूजे से ,जीते है जो एक दूजे के लिये,फिर भी एक दूजे के होकर भी ,एक दूजे से किनारा किये बैठे है,न जानें क्यों खुद से आज हारे बैठे है।
    =============================
    दीदार उनके कर पाते इसलिए उस चौक पे गये थे,
    हमने शाम कर दी वो ना आये तो कोई बात नहींI
    =============================
    जो रिश्ते को आसानी से खत्म कर रहे है आज,वो हर रिश्ते को दिल से निभाये बैठे है ,न जाने क्यों आज खुद से हारे बैठे हैं।
    =============================
    तुझसे पहला और आख़िरी रिश्ता निभाना है
    पास रहकर भी कहीं दूर चले जाना है।
    ना दिखेगा तू, ना मैं दिखूँ तुझे
    आँखों के रिश्तों का तो बस बहाना है।
    =============================
    दिल में दस्तक देकर,जाने तुम किधर गएमेरी आँखें ठहरी वहीं,जाने तुम जिधर गए।
    =============================
    तुझसे मिलने की ,ख्वाहिश में निकले मगरमेरे कदम तेरे दर पर,पहुँच कर भी ठहर गए।
    =============================
    पहले था मुझे तेरे,इरादों का एहसास मगरतेरे नाम,काम,हर दिन सुबहो शाम कर गए
    मेरी हर सांस का तुझको है एहसास मगरदिल तोड़ दिया, क्या आंखों से भी उतर गए?
    =============================
    दिल की लगाई हमने यूँ बहुत बाजी मगरतेरी मुहब्बत के खेल में हम यूँ हीं बिखर गए
    अपने जज्बातों को समेटा प्रियम बहुत मगरकी लफ़्ज़ों की बाज़ीगरी तो यूँ ही निखर गए।                             ----©पंकज प्रियम
    ============================
    ख़्वाहिशे होती नहीं कम, कुछ भी पा जाने के बाद, याद तुम मुझको करोगे, फिर मेरे जाने के बाद! 
    ============================
    दाद देने की उन्हें,याद शायद ही नहीं, आँखें उनकी हो गयी नम, यूँ मेरे गाने के बाद! 
    =============================
    मिल जायेगें यूँ राह चलते, ये कहाँ उम्मीद थी, फिर वही मंजर दिखेंगे, उनके जुदा होने के बाद! 
    =============================
    वक्त पर आगे नहीं, जो बढ़ाये थे कदम, राहे मंजिल कैसी होगी, क्या पता खोने के बाद! 
    ============================
    उसके बारे में गर कोई खबर आये तो बतानाअच्छा ! मेरा चाँद कहीं नजर आये तो बताना
    =============================
    बरस गयी थी मुझपर जो घटा पिछले सावनमुझे ढूँढते हुए फिर तेरे शहर आये तो बताना इंतजार में जिनके मैं दहलीज़ पर बैठा कब सेवो भटकते हुए कभी इधर आये तो बताना
    ============================
    मेरी आवाज पहुँच जाये गर दिल तक उनकेवो भी चलते चलते न ठहर जाये तो बताना अरे नादान जरा इशारों को समझना सीखोवो बहाने से कभी मेरे घर आये तो बताना
    =============================

    लिखने का शौक़ था लिखता चला गयाबाज़ार-ए-ज़िंदगी में बिकता चला गया
    ============================
    ए ख़ुदा दुनिया बदल दे, या मेरा दिल पत्थर कर दे,;
    उसकी बातो से चुभन ना हो तू मुझको इतना बेअसर कर दे।
    =============================
    कितनी जहर भरी बातें है उसकी,मेरी बातो में भी थोड़ा सा जहर भर दे;
    ============================
    कभी वो भी पूछे हाल मेरे दिन-रातो का,या तू मुझको मुझसे बेखबर कर दे;
    ए ख़ुदा दुनिया बदल दे या मेरा दिल पत्थर कर दे।
    ==========================
    कभी ख्वाब दिखाए थे प्यार के गुलिस्तां के तूने,उनको मुकम्मल कर दे, या सरासर बंजर कर दे;
    =============================
    आंखें राहों पे बिछा रखे पलकें उनके आरज़ू को,
    अन्त में प्रेमी भी ना मिले तो कोई बात नहींI
    =============================
    सर्द रात में ...जब भी उसकी याद आती हैंजाने.......तन्हाई क्यों उसके साथ आती हैंमुन्तजीर हूँ उसके प्यार में...कुछ ईस कदरकी सारी रात.....करवटो में गुजर जाती हैं
    ===========================
    मै ही कहता रहा....वो भी कुछ कहे मुझसे हैं कुछ दर्द उधर भी...........तो कहे मुझसे बयां करे, कुछ अपना, कुछ अपने दिल कायही आस लगी रहती है....अपने हमदर्द से 
    ===========================
    अब फासले ये लम्हात के.....बढते जा रहे हैं डर के बादल चारो ओर से...घिरते जा रहे हैं सोचता हूँ........चाहता हूँ......ऐ कह दूँ उससे तो इस पर दोस्त, अपनी सलाह दिये जा रहे हैं//
    =============================
    ख्याल तेरा गजब का है जो,मुझे मुझी से, चुरा रहा है।तू कौन है क्या, है नाम तेरा,तूहीं क्यों दिल को, यूँ भा रहा है।
    =============================
    दीवाना सबको, बना रहा है।तू कौन है क्या, है नाम तेरा,तूहीं क्यों दिल को, यूँ भा रहा है।
    =============================
    तुम्हारी जुल्फों में कट रही है,ये रात पूनम, कभी न गुजरेनशा लबों का जो छा गया है,
    =============================
    वो ऐसी होगी वो वैसी होगी,ख्याल दिल मे, मचल रहे थे।तुम्हें जो देखा करार आया,यूहीं हम तन्हा, भटक रहे थे।
    =============================
    तुम्हें मोहब्बत का गीत करके,दिल ये पागल, बस गा रहा है।                    -विश्वनाथ
    =============================
    तोड़ के चले दिल वो हमारा तो कोई बात नहीं,
    तहस-नहस कर गये मंजर सारा तो कोई बात नहींI
    =============================
    रेत पर बनाया था घर टूट गया हम क्या करें?
    रेत का था बिखर गया बेअदब तो कोई बात नहींI
    =============================
    तू मेरा है, तू मेरा था, पर न होगा मेरा
    ये जो एहसास तुझे दिलाना है।
    मैं जानता हूँ तू रोएगा लेकिन
    दिल का रोने से राबता पुराना है।
    ============================
    चन्द मायुसियाँ शक्ल-ओ-सूरत बिगाड़ देती है,
    बिगड़ना ही था तो बिगड़ गई तो कोई बात नहींI
    =============================
    किसी ने कहा क्या मुहब्बत कर पाओगे मुझसा?
    उसके जैसी मेरी किस्मत नही तो कोई बात नहीI
    ===========================
    बाज़ीचा दिल को समझ वो खेल गये तो क्या हुआ?
    अब्तर-ए-ख़्वाब बस मेरे हो गये तो कोई बात नहींI
    ============================
    आंसू पीने को मजबूर हो गये जाने क्यों?
    आंसू, शराब गर जान ले भी ले तो कोई बात नहींI
    =============================





    No comments:

    Post a comment

    Please do not enter any spem links in the comment box

    Popular Posts

    Contact Form

    Name

    Email *

    Message *

    Follow by Email